बंद का असर: दो दिन बंद रहेंगे शिक्षण संस्थान, मृतकों को परिजनों को मिलेंगे 4-4 लाख रुपए

0
270

कलेक्टर और एसपी ने नागरिकों से शांति बनाए रखने की अपील, बोले नहीं बख्शे जाएंगे गुनाहगार        ग्वालियर। दलितों के भारत बंद के बाद शहर में बिगड़े हालातों पर नियंत्रण बनाने के लिए जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन अब मुस्तैद नजर आ रहा है। कलेक्टर और एसपी ने नागरिकों से शांति बनाए रखने की अपील की है। साथ ही कहा कि बंद के दौरान हिंसा फैलाने वालों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।
सोमवार की रात पुलिस कंट्रोल रूम में कलेक्टर राहुल जैन एवं एसपी डाॅ. आशीष ने संवाददाताओं से चर्चा करते हुए कहा कि अब स्थिति नियंत्रण में हैं। गोला का मंदिर, मुरार, थाटीपुर व महाराजपुरा थाने के इलाकों में कफ्र्यू जारी रहेगा। रोजमर्रा की जरूरतों के लिए सुबह 8 से 9 बजे से कफ्र्यू में ढील रहेगी। हालातों पर काबू पाने और स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिए शहर भर में दो दिन तक स्कूल, काॅलेज, कोचिंग सहित सभी प्रकार के शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे।
उन्होंने बताया कि जेएएच में घायलों के भर्ती होने के कारण वहां भी किसी प्रकार का तनाव पैदा न हो इसके चलते अस्पताल कैंपस में भी कफ्र्यू रहेगा।
बंद के दौरान मारे गए लोगों के परिजनों को चार-चार लाख रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी; जबकि घायल, अस्थाई व स्थाई तौर पर शारीरिक रूप से अक्षम होने वालों को नियमानुसार सहायता दी जाएगी। चल संपंति के नुकसान पर भी संपंति मालिकों को मदद की जाएगी। बंद के दौरान जिन असमाजिक तत्वों ने शहर की फिजा को बिगाड़ा है, उनकी सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पहचान कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए किसी भी दल को धरना-प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here