एटीएम व क्रेडिट कार्ड क्लोनिंग कर खाते से पैसे निकालने वाला अंतरराष्ट्रीय गिरोह पुलिस के हत्थे चढ़ा

0
298

भंडाफोड़ : विदेश से साॅफ्टवेयर मंगाकर देश में लगा रहे थे लोगों को चूूना, ग्वालियर, मुरैना व भोपाल के लोगों के मुंबई में निकाल रहे थे पैसा
ग्वालियर। भारत बंद के दौरान पैदा हुए तनाव के बाद शांतिपूर्ण माहौल बनाने में दिन रात पसीना बहा रही पुलिस को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। ग्वालियर पुलिस ने एक ऐसे अंतरराष्ट्रीय गिरोह को भंडाफोड़ किया है, जो मुंबई व अन्य शहरों में बैठकर ग्वालियर व अंचल के लोगों के पैसे को ठिकाने लगा रहे थे। इसके लिए वे आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल कर लोगों के एटीएम व क्रेडिट कार्ड से उनके खातों में सेंध लगाने में जुटे हुए थे।
पुलिस अधीक्षक डाॅ. आशीष ने गुरुवार को संवाददाताओं को जानकारी देते हुए बताया कि हरिमोहन शिवहरे पुत्र सीताराम शिवहरे, निवासी मेहगांव भिंड व इमरान खान पु़त्र पाशाखान निवासी मुंबई को गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपी लोगों के एटीएम एवं के्रडिट कार्ड क्लोनिंग कर मुंबई व अन्य शहरों में ठगी कर रहे थे।
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि ये शातिर ठग अमेरिका, आॅस्ट्रेलिया, जापान और ब्रिटेन से क्रेडिट कार्ड का डाटा चुराकर क्रेडिट कार्ड क्लोनिंग कर लाखों रुपए की ठगी करते थे।
विदेश से मंगाए थे साॅफ्टवेयर
ठगों ने चीन से स्पीकर एवं साॅफ्ट टाॅयज में छिपाकर एटीएम कार्ड क्लोनिंग के लिए एटीएम स्कीमर व माइक्रो कैमरा मंगाया था।
ऐसे आए पकड़ में
ग्वालियर निवासी दिनेश तोमर के खाते से अवैध तरीके से 10 लाख 32 हजार 627 रुपए निकाले गए थे। बैंक से स्टेटमेंट निकालने पर पता चला कि उनके खाते से ग्वालियर, मुरैना, इटावा, कानपुर एवं थाणे के एटीएम से पैसे निकाले गए। जबकि उनका एटीएम उनके पास ही था। पुलिस ने शिकायत पर जांच शुरू की है और सीसीटीवी फुटेज के आधार दोनों आरोपी को पहचान का उन्हें गिरफ्तार किया गया। इस ठगी के मास्टरमांइड कैन्या का हिलेरी और कलाम खान हैं। हिलेरी अभी मुंबई जेल में बंद है लेकिन उसने अनेक युवाओं को क्लोनिंग से ठगी की ट्रेनिंग दी है जो देश के विभिन्न हिस्सों में अभी भी सक्रिय होकर लोगों को ठग रहे हैं।
उधर जनकगंज थाना इलाके में रहने वाले वेदप्रकाश गुप्ता का अपरहण करने वाले तीन आरोपियों को भी पुलिस ने दो घंटे की घेराबंदी के बाद गिरफ्तार कर लिया। ये एक युवती के माध्यम से उसे ब्लैकमेल कर रहे थे और अपरहरण कर पजिनों से तीन लाख रुपए की मांग की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here