मृतक विवेक तिवारी के परिवार को ₹25 लाख मुआवजे का ऐलान, पत्नी को दी जाएगी सरकारी नौकरी

लखनऊ। मल्टिनैशनल कंपनी ऐपल में बतौर एरिया मैनेजर काम करने वाले सुल्तानपुर निवासी विवेक तिवारी की मौत शुक्रवार रात गोली लगने से हो गई। इस मामले में आरोपी कॉन्स्टेबल प्रशांत चौधरी की पिस्टल से गोली चली जिसकी वजह से यूपी पुलिस पर सवाल खड़े होने लगे। मामला इतना बढ़ गया कि केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से पूरी जानकारी ली। बहरहाल इस केस में लखनऊ के डीएम कौशल राज शर्मा ने बताया कि पीड़ित परिवार द्वारा मांग किए जाने पर सीबीआई जांच भी कराई जाएगी। इसके साथ ही मुआवजे के रूप में 25 लाख रुपये पीड़ित परिवार को दिए जाएंगे।

लखनऊ डीएम कौशल राज शर्मा ने बताया ‘परिवार की सभी मांगें मान ली गई हैं, यह लिखित रूप में दे दिया गया है। परिवार यदि सीबीआई जांच की मांग करता है तो कराई जाएगी। मृतक विवेक तिवारी की पत्नी को नौकरी दी जाएगी और बतौर मुआवजा 25 लाख रुपये भी दिया जाएगा। इस केस की जांच 30 दिनों में पूरी कर ली जाएगी।’